Wednesday, June 12, 2024

Latest Posts

सचिव आपदा प्रबन्धन रंजीत कुमार सिन्हा ने सरकार जनता के द्वार कार्यक्रम के तहत ग्रामवासियों से रूबरू होकर जनसमस्याएं सुनी।

 

रूद्रपुर ।-सचिव, आपदा प्रबन्धन एवं पुनर्वास, राज्य आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण, परियोजना निदेशक, बाह्य सहायतित परियोजनायें (यूईएपीयूडीआरपी) तथा परियोजना निदेशक, उत्तराखण्ड शासन एवं प्रभारी सचिव जनपद ऊधम सिंह नगर डॉ.रंजीत कुमार सिन्हा ने सरकार जनता के द्वार कार्यक्रम के तहत शनिवार को राजकीय प्राथमिक विद्यालय मल्सी में रात्रि चौपाल लगाकर ग्रामवासियों से रूबरू होकर जनसमस्याएं सुनी। उन्होंने कहा कि सभी ग्रामीण सजग रहकर राज्य और केंद्र सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ उठाएं तथा खुद लाभान्वित होकर ओरों को भी प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि सरकार जनता के दार पर उनके साथ खड़ी है।

 

डॉ.सिंहा ने कहा कि कोई भी समस्या छोटी या बड़ी नहीं होती बल्कि समस्या ही होती है। उन्होंने कहा कि हर समस्या का समाधान एवं निदान होना चाहिए। उन्होंने कहा कि अच्छा अफसर या कर्मचारी वही है जो जनता के दुख-दर्द को महसूस करे और जनता को यकीन दिलाए कि सरकार-प्रशासन जनता की सेवा के लिए तत्पर है।

 

रात्रि चौपाल में 129 समस्याएं एवं मार्ग दर्ज कराई गई, जिसमें से अधिकांश समस्याओं का मौके पर ही निस्तारण किया गया। चौपाल में 77 अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा प्रतिभाग किया गया। डॉ.सिंहा ने चौपाल में गांववासियों सेे आजीविका के संसाधनों, शिक्षा, चिकित्सा एवं आधारभूत सुविधाओं के बारे में विस्तार से चर्चा करते हुए महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिये। प्रमुख समस्याओं में सामाजिक पेंशन, पीएम आवास, राशन कार्ड, भूमि विवाद, पानी की निकासी आदि से सम्बन्धित थी।

 

डॉ.सिंहा ने गांव में पेयजल एवं लगे हुए हैण्डपम्पों की स्थिति के बारे में सही से जानकारी न उपलब्ध कराने पर सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि जेई तथा एई का कार्य हैण्डपम्प या योजनाएं बनाने तक ही सीमित नहीं है बल्कि समय-समय पर उन योजनाओं का स्थलीय निरीक्षण करना और योजना के बारे में ग्राम प्रधान व जनप्रतिनिधियों से जानकारी प्राप्त करना भी है ताकि योजना की अद्यतन जानकारी रहे।

 

डॉ.सिंहा ने गांववासियों के साथ सामाजिक पेंशन यथा-विधवा, वृद्धावस्था, दिव्यांग आदि पेंशन के बारे में विस्तार से चर्चा करते हुए जिला समाज कल्याण अधिकारी को निर्देश दिये कि दो माह के भीतर सभी पात्रों कों पेंशन मिल जाए और वृद्धावस्था तथा दिव्यांग पेंशन हेतु निर्वाचन आयोग से भी डाटा प्राप्त किया जाये ताकि आयु सीमा प्राप्त कर रहे व्यक्तियों की सूची समाज कल्याण विभाग के पास पहसे से ही मौजूद रहे। उन्होंने स्पष्ट निर्देश दिये कि यदि किसी व्यक्ति की पेंशन स्वीकृत नहीं हो पा रही है तो अस्वीकृति का भी सम्पूर्ण डाटा तैयार हो।

 

केके मलकानी तथा उमेंश जोशी ने भूमि विवाद से सम्बन्धित प्रकरण रखा जिस पर डॉ.सिंहा ने दो दिन के भीतर प्रकरण का सर्वे कर रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश राजस्व विभाग के अधिकारियों को दिये। बालक समीर तथा विशाल ने बालकों के लिए रामनगर स्कूल में बालिकाओं के साथ कक्षा 8 तक के स्थान पर कक्षा 10 तक पढ़ाई की मांग की ताकि हाईस्कूल तक की शिक्षा ग्रहण करने हेतु अधिक दूरी तय न करनी पड़े, जिस पर डॉ.सिंहा ने मुख्य शिक्षा अधिकारी को तत्काल मामले का संज्ञान लेते हुए कार्यवाही करने के निर्देश दिये। अताउल्ला ने कुछ व्यक्तियों द्वारा नाली बन्द करने की शिकायत की जिस पर डॉ.सिंहा ने तत्काल नाली खुलवाने तथा नाली खोलने में बांधा उत्पन्न करने वालों के खिलाफ तुरन्त मुकदमा दर्ज कराने के निर्देश राजस्व तथा पंचायतीराज विभाग के अधिकारियों को दिये। नरफत तथा विजय ने लैण्ड फ्रोड की शिकातय की जिस पर डॉ.सिंहा ने लेखपाल को प्राथमिकता से प्रकरण की जांच करते हुए लैण्ड फ्रोड करने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के निर्देश दिये।

 

ब्लॉक प्रमुख ममता जल्होत्रा ने रात्रि चौपाल लगाने पर शासन तथा प्रशासन का धन्यवाद दिया।

 

चौपाल में जिलाधिकारी युगल किशोर पन्त, मुख्य विकास अधिकारी विशाल मिश्रा, परियोजना निदेशक हिमांशु जोशी, उप जिलाधिकारी मनीष बिष्ट, मुख्य शिक्षा अधिकारी आरसी आर्य, जिला पंचायतराज अधिकारी आरसी त्रिपाठी, अधिशासी अभियंता ज्योति पालनी, तरूण शर्मा, जिला प्रोबेशन अधिकारी व्यौमा जैन, जिला सेवायोजन अधिकारी आरके पन्त सहित अन्य अधिकारी व क्षेत्रीय जनता उपस्थित थी।

About The Author

Latest Posts

Don't Miss

Stay in touch

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.