Sunday, July 21, 2024

Latest Posts

श्रीराम संस्थान में नवांगतुक विद्यार्थियों के लिए आयोजित हुआ ओरिएंटेशन कार्यक्रम

काशीपुर श्रीराम इन्स्टीटयूट ऑफ मैनेजमैण्ट एण्ड टैक्नोलॉजी, काशीपुर में बी0बी0ए0, बी0सी0ए0 एवं बी0कॉम0(ऑनर्स) प्रथम सेमेस्टर के नवांगतुक छात्र-छात्राओं के लिए ओरिएंटेशन प्रोग्राम का आयोजन किया गया जिसमें नव प्रवेशित छात्र-छात्राओं को आमंत्रित किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ संस्थान के अध्यक्ष श्री रवीन्द्र कुमार, निदेशक प्रो0 (डॉ0) योगराज सिंह, प्राचार्य डॉ0 एस0 एस0 कुशवाहा द्वारा मां सरस्वती के सम्मुख दीप प्रज्वलित एवं चरणों में पुष्प अर्पित कर किया गया। इसका कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य छात्र-छात्राओं को संस्थान के मैनेजमेन्ट, अध्यापकों, शैक्षिक व परीक्षा नीतियों, उपलब्धियों, संस्थान के शैक्षणिक कीर्तिमानों आदि से अवगत कराना था। संस्थान के अध्यक्ष श्री रवीन्द्र कुमार ने प्रथम सेमेस्टर के छात्र-छात्राओं को बधाई व शुभकामनाएं देते हुए कहा की श्रीराम कॉलेज छात्रहित के लिए सतत प्रयासरत है उन्होंने कहा कि अगर आप अपने भविष्य के लिए समर्पित होकर प्रयास करते है तो श्रीराम कॉलेज आपके सपनो को साकार करने के लिए हर कदम आपके साथ खड़ा हैें। सिर्फ आपको अपने सम्पूर्ण मनोयोग के साथ अपनी कक्षा एवं कॉलेज में होने वाले अन्य क्रियाकलापों में भागीदारी करनी है। संस्थान के निदेशक प्रो0 (डॉ0) योगराज सिंह ने छात्र-छात्राओं को कहा कि आधुनिक तक़नीकी दौर में स्वयं को मल्टीनेशनल कंपनियों में उच्च स्थान पर स्थापित करना चाहते है तो शिक्षा के साथ आपको कॉलेज में होने वाली शिक्षण सम्बंधित अन्य गतिबिधियों में भी प्रतिभाग करना होगा। जो की कॉलेज में समय-समय पर आयोजित किये जाते हैं।
प्राचार्य डॉ0 एस0 एस0 कुशवाहा ने कहा कि जीवन में सफलता के लिए आपके पास ज्ञान के साथ सयंम होना बहुत जरुरी है साथ ही आपका अनुशासित होना भी अति आवश्यक है क्योंकि अनुशासन ही सफलता प्राप्त करने की एकमात्र कुंजी है
संस्थान के अध्यक्ष श्री रवीन्द्र कुमार, निदेशक प्रो0 (डॉ0) योगराज सिंह, प्राचार्य डॉ0 एस0 एस0 कुशवाहा, समस्त विभागाध्यक्ष एवं शिक्षकगणों ने उपस्थित छात्र-छात्राओं के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दीं।

About The Author

Latest Posts

Don't Miss

Stay in touch

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.