Sunday, April 21, 2024

Latest Posts

रूद्रपुर। इण्डसण्ड बैंक के शाखा प्रबंधक को उन्हीं के घर पर खाना बनाने का काम करने वाली युवती ने अपने जाल में ऐसा फंसाया कि वह खुद पूरे घर की मालकिन बन बैठी युवती लम्बे समय तक प्रबंधक को खाने में स्लो पाइजन देती रही जिससे बैंक मैनेजर का दिमागी संतुलन ही बिगड़ गया जब मैनेजर को सच्चाई का एहसास हुआ तो उसका खुद का परिवार बिखरने की कगार पर पहुंच चुका था पैसा, परिवार और इज्जत सब कुछ दांव पर लगने के बाद जब मैनेजर ने युवती से पल्ला छुड़ाने की कोशिश की तो दिनदहाड़े बैंक में घुसकर हमला कर दिया न्याय के लिए दर दर भटक रहे बैंक मैनेजर ने मामले में अब डीजीपी को ज्ञापन भेजकर न्याय की गुहार लगायी है।

इण्डसण्ड बैंक के रूद्रपुर शाखा के प्रबंधक मूल रूप से ग्राम महावतपुर बावली जिला बागपत उत्तर प्रदेश निवासी शैलेन्द्र कुमार ने अपनी पत्नी रितु देवी के साथ मीडिया से मुखातिब होकर दर्द भरी दासतान बयां की उन्होंने फाजलपुर प्रीत विहार निवासी सोनाली सुमन नाम की युवती पर आरोप लगाया कि युवती और उसके परिवार के लोगों ने मिलकर उसे हनी ट्रैप में फंसाया है। पूरी कहानी बयां करते हुए शैलेन्द्र कुमार ने बताया कि जून 2019 में उनके एक मित्र के आग्रह पर उन्होंने एक जरूरतमंद युवती प्रीत विहार रूद्रपुर निवासी सोनाली सुमन को अपने घर पर सुबह शाम खाना बनाने की नौकरी दे दी सोनाली के परिवार की हालत तब ठीक नहीं थी सोनाली सुबह शाम खाना बनाने आती थी और चली जाती थी शैलेन्द्र कुमार ने बताया कि सोनाली उन्हें खाने में कोई जहरीला पदार्थ देने लगी जिससे उनकी मानसिक स्थिति लगातार बिगड़ती चली गयी जिस कारण उसे मेडिसिटी अस्पताल में भर्ती होना पड़ा जब डाक्टरों ने चेकअप किया तो पता चला कि उनका मानसिक संतुलन बिगड़ चुका था जिस कारण उन्होंने हल्द्वानी में मनोचिकित्सक संगीता जोशी से अपना ईलाज कराया लेकिन वहां भी हालत नहीं सुधरी मानसिक स्थिति खराब होने का फायदा उठाकर उक्त सोनाली सुमन उसकी मां शिवानी पत्नी रवि सुमन, भाई निहाल आदि उसेे अपने बस में करते चले गये उक्त लोग उसे कई झाड़ फूंक वालों और तांत्रिकों के पास भी ले गये जिससे हालत और बिगड़ती गयी शैलेन्द्र के मुताबिक उसका मानसिक संतुलन पूरी तरह से बिगड़ चुका था वह कुछ भी अच्छा बुरा नहीं समझ पा रहा था इसी बीच सोनाली और उसके परिवार के लोग उसे किराये के मकान से अपने घर प्रीत विहार रूद्रपुर ले गये और मुझे पूरी तरह अपने जाल में फंसाकर एक तरह से बंधक बना लिया अपने घर में रखकर इन लोगों ने बैंक खातों से लाखों रूपये निकाल लिये मेरा एटीएम, क्रेडिट कार्ड से लेकर सब कुछ इनके पास ही रहता था मेरी खराब मानसिक हालत के दौरान ये लोग मुझसे वो सब कुछ कराते थे जो मैं सही मानसिक हालातों में कभी नहीं करता यहां तक कि सोनाली ने मेरी मानसिक हालत का फायदा उठाकर मुझे शारीरिक सम्बंध बनाने के लिए भी मजबूर कर दिया इसके बाद मैं इनके जाल में और भी बुरी तरह फंस गया सोनाली और उसके परिवार के लोगों ने समाज में अफवाह फैला दी कि मैंने सोनाली से शादी कर ली है, जबकि मैं पहले से शादी शुदा हूं और मेरे दो बच्चे भी हैं, सोनाली और उनके परिवार के लोगों ने मेरी और सोनाली की तस्वीरें सोशल मीडिया पर भी डाल दी सोनाली के साथ मेरी अश्लील फोटो और वीडियो भी बना ली गयी और इसके बाद मुझे लगातार ब्लैकमेल करते रहे बदनामी के डर से मैं सब कुछ सहता रहा और इनके इशारों पर चलता रहा।

सुनियोजित साजिश के तहत सोनाली ने फरवरी 2020 में मेरी पत्नी जो कि उस समय मेरे मूल निवास महावतपुर बावली जिला बागपत में रहती थी को फोन करके बता दिया कि मैंने सोनाली के साथ शादी कर ली है जबकि न तो मैने किसी मंदिर में सोनाली से विवाह किया न ही कोर्ट मैरिज आदि की सोनाली के परिवार वालों ने मुझे अपनी पत्नी और बच्चों से अलग करने के लिए षडयंत्र के तहत यह खेल खेला ताकि में जीवन भर सोनाली और उसके परिवार के इशारों पर चलूं मेरी पत्नी को जब यह झूठी कहानी पता चली तो मेरा हंसता खेलता परिवार टूटने की कगार पर पहुंच चुका था इसी बीच में अच्छे चिकित्सकों से अपना उपचार कराकर थोड़ा ठीक होने लगा तो मुझे अपने साथ हुए षडयंत्र का आभास होने लगा काफी दिनों बाद जब मुझे पता चला कि सोनाली सुमन इसी तरह पैसे वाले लोगों को अपने जाल में फंसाती है और फिर पैंसे ऐठती हैं, सच्चाई को ढंग से जानने के लिए मैंने एक दिन सोनाली का फोन मांगा तो उसने फोन नहीं दिया उसने फोन देने के बजाय पानी में इसलिए फैंक दिया ताकि उसकी सच्चाई सामने न आ जाये लेकिन मैंने सोनाली को बताये बिना फोन को पानी से निकलवाया और उसे मोबाइल सेंटर ले जाकर ठीक करा दिया जब मोबाइल खोला तो सोनाली का सच जानकर मेरे होश उड़ गये सोनाली के फोन से पता चला कि उसके कई लोगों के साथ गलत सम्बंध थे, वह हनी ट्रैप के जरिये लोगों को जाल में फंसाती थी उसके मोबाइल में अश्लील वीडियो, फोटो से लेकर बहुत कुछ आपत्तिजनक मिला इसी बीच मुझे पता चला कि सोनाली सुमन के मेरे ड्राईवर अंकुर के साथ भी अवैध सम्बंध थे वह अंकुर ड्राईवर के साथ अकसर शराब पीती थी और मुझे शराब के साथ नींद की गोलियां मिलाकर ड्राईवर के साथ सब कुछ करती थी कई और संदिग्ध लोग भी सोनाली से मिलने आते थे जब सोनाली की सच्चाई मेरे सामने आई तो मैंने उससे दूरी बनानी शुरू कर दी जिसके चलते सोनाली और उसके परिवार मुझे धमकी देने लगे और ब्लैकमेल करने लगे इसी बीच सोनाली मेरे ड्राईवर के साथ भाग घर से गयी और दिल्ली में उसके साथ रहने लगी।

अगस्त 2021 को सोनाली ने मुझे बताया कि वह तरूण नाम के व्यक्ति से शादी करने वाली है, इसलिए उसे तलाक चाहिए जबकि सोनाली से शादी मैंने की ही नहीं थी चूंकि मेरी खराब मानसिक स्थिति के दौरान उक्त लोगों ने पूरे समाज में यह प्रचारित कर दिया था कि मैंने सोनाली से शादी की है, इसलिए मुझे भी अपनी गलती का ऐहसास हुआ और मैंने सोनाली से तलाक लेना ही बेहतर समझा और उसकी बात मान ली चूंकि तलाक में दोनों ही पक्षों को कोई आपत्ति नहीं थी सितम्बर 2021 मे तलाक के लिए सोनाली और उसके परिवार ने 4 लाख रूपये देने की मांग की जिस पर मैंने सोनाली और उसके परिवार को आपसी सहमति में तय हुए 4 लाख रूपये भी दे दिये जिसके बाद तलाक के लिए कोर्ट में मुकदमा डाला गया लेकिन पैंसे लेने के बावजूद सोनाली ने तलाक के कागजों पर साईन नहीं किये सोनाली और उसके परिवार के लोग और पैंसे की मांग करने लगे और मुझे धमकियां दी जाने लगी।

29 दिसम्बर 2021 की दोपहर को मैं अपने कार्यालय में काम कर रहा था तभी उक्त सोनाली सुमन, उसकी मां शिवानी पत्नी रवि सुमन, भाई निहाल प रवि सुमन, विक्रांत उर्फ देव पुत्र रवि सुमन निवासी गण तराई विहार कालानी, फाजलपुर महरौला एवं तीन चार अज्ञात लोग लाठी डण्डों से लैस होकर मेरे कार्यालय में आये और मुझ पर जानलेवा हमला कर दिया उक्त लोग मेरा एप्पल का फोन और तीस हजार की नगदी भी लूट ले गये उक्त लोगों ने मुझे बैंक से बाहर खींचकर जान से मारने का प्रयास किया लेकिन अन्य स्टाफ के वहां होने से ये अपने मकसद में कामयाब नहीं हो पाये मेरे साथ उक्त लोगों द्वारा की गयी मारपीट की घटना सीसी टीवी पर भी कैद हो गयी जिसकी मेरे पास फुटेज भी मौजूद है, उक्त मामले में पुलिस को तुरंत सूचना दी गयी लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई जिस पर मैंने न्यायालय की शरण ली और न्यायालय के आदेश पर उक्त मामले में मुकदमा भी दर्ज हो चुका है लेकिन अभी तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो पायी है।

शैलेन्द्र कुमार ने कहा कि मेरी तरफ से उक्त लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज होने के बाद ये लोग मुकदमा वापस कराने के लिए धमकाने लगे जब मैं इनकी बात नहीं माना तो 4 अप्रैल 2022 को इन्होंने मुझ पर दबाव बनाने के लिए मेरे खिलाफ षडयंत्र के तहत दहेज का फर्जी केस लगा दिया जबकि मैंने शादी की ही नहीं तो दहेज किस बात का दहेज का मुकदमा लगाने के बाद भी जब मैं इनके दबाव में नहीं आया तो उक्त सोनाली सुमन ने मुझे दबाव में लेने के लिए मेरे खिलाफ दुष्प्रचार शुरू कर दिया चूंकि सोनाली के सम्बंध कई गलत लोगों से थे जिनमें एक तथाकथित पत्रकार भी है, शैलेन्द्र ने कहा मुझे पता चला है कि उक्त पत्रकार खुद भी जिस्म फरोशी के मामले में जेल जा चुका है, मुझे ज्ञात हुआ है कि पत्रकार और उसका गैंग लड़कियों के माध्यम से पैसे वाले लोगों को अपने जाल में फंसाता था उसके बाद ये लोग ब्लैकमेलिंग करते थे मुझे शक है कि सोनाली सुमन भी राजीव और उसके गैंग का हिस्सा रह चुकी है, संभवतः मेरे साथ जो कुछ हुआ है उसमें इसी गैंग का हाथ है, क्यों कि मुझे सुनियोजित होकर सोनाली ने अपने जाल में फंसाया उसके जाल में फंसकर में अब तक लाखों रूपये गंवा चुका हूं सोनाली और उसके परिवार ने न सिर्फ मुझे शारीरिक मानसिक और आर्थिक क्षति पहुंचायी बल्कि समाज में मेरे मान सम्मान और प्रतिष्ठा को भी खराब किया।

शैलेन्द्र कुमार ने कहा कि सोनाली और उसके षडयंत्र में शामिल लोग उसे आये दिन धमकियां दे रहे हैं और दुष्प्रचार कर सामाजिक प्रतिष्ठा धूमिल कर रहे हैं, शैलेन्द्र ने कहा कि उसे कानून पर भरोसा है इसलिए वह कानूनी लड़ाई लड़ रहा है, लेकिन जब उसके खिलाफ दुष्प्रचार की हदें पार होने लगी तो मजबूर होकर उन्हें प्रेस के सामने अपनी बात रखनी पड़ी है, मैनेजर शैलेन्द्र कुमार ने कहा कि उक्त लोगों से मुझे और मेरे परिवार को जान माल का खतरा बना हुआ है, उनके साथ या परिवार के साथ कुछ भी अनहोनी होती है तो इसकी पूरी जिम्मेवारी सोनाली और उसके परिवार की होगी साथ ही शैलेन्द्र कुमार ने डीजीपी से पूरे प्रकरण की निष्पक्ष जांच कराकर उक्त लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई एवं झूठे मुकदमे को निरस्त करने की मांग की है।।

About The Author

Latest Posts

Don't Miss

Stay in touch

To be updated with all the latest news, offers and special announcements.